धारा 370 हटाने पर बोले PM मोदी- कश्मीर आंतरिक मसला, सोच-समझकर लिया है फैसला

  • by Yogesh
  • August 12, 2019

जम्मू-कश्मीर को लेकर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने दूसरे कार्यकाल का अबतक का सबसे बड़ा ऐतिहासिक फैसला लिया है, जम्मू-कश्मीर से धारा 370 हटाने की मांग काफी लंबे समय से उठती आई थी, लेकिन यह मसला हर बार टलता रहा था।

वहीं हाल ही में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने इस फैसले पर कहा कि यह निर्णय उन्होंने काफी सोच-समझ कर लिया है, और आगे सरकार का कश्मीर को लेकर बड़ा प्लान भी है, ताकि घाटी में विकास को आगे बढ़ाया जा सके।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने हाल ही में एक इंटरव्यू में कहा कि,

“कश्मीर को लेकर हमारी सरकार ने जो फैसला लिया है, वह पूरी तरह से घरेलू मामला है, हमने इस निर्णय को काफी सोच-समझ कर लिया है, हमें पूरा भरोसा है कि इससे घाटी के लोगों को काफी फायदा होगा।,”

गौरतलब है कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अपने राष्ट्र के नाम संबोधन में घाटी में निवेश की बात कही थी और ‘नया कश्मीर’ का जिक्र किया था। उन्होंने कहा था कि,

“मेरी अपील के बाद देश के कई बड़े उद्योगपतियों ने जम्मू-कश्मीर में निवेश करने को लेकर इच्छा भी जताई है।,”

वहीं प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि,

“आज के समय में खुले वातावरण में आगे बढ़ना जरूरी है, ताकि युवाओं को नए अवसर मिल सकें, धारा 370 को लेकर हमने जो फैसला लिया है, उससे कश्मीर के लोगों का भला होने वाला है, इस फैसले से क्षेत्रीय इलाके में कई अवसर पैदा होंगे।,”

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने घाटी में निवेश को लेकर कहा कि,

“धारा 370 हटने के बाद घाटी में टूरिज्म, कृषि क्षेत्र, IT और हेल्थकेयर समेत अन्य क्षेत्रों में फायदा पहुंचेगा, इससे कश्मीर के प्रोडेक्ट, लोगों को फायदा पहुंचेगा और उन्हें बड़ा मंच मिलेगा, IIT, IIM, AIIMS के जरिए ना सिर्फ युवाओं को शिक्षा के अवसर मिलेंगे तो वहीं घाटी में रोजगार के अवसर भी पैदा होंगे, इसके साथ ही रेलवे, एयरपोर्ट समेत अन्य कनेक्टविटी को बढ़ावा दिया जाएगा।,”

गौरतलब है कि केंद्र सरकार ने जम्मू-कश्मीर को लेकर जो फैसला लिया है, उसपर ना सिर्फ देश बल्कि पूरी दुनिया में चर्चा हो रही है, वहीं प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कड़ा और साफ संदेश दिया था कि भारत सरकार ने जो फैसला लिया है वह उनका आंतरिक मामला है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *