नेहरू ने अनुच्छेद 370 जोड़कर किया था अपराध, पीएम मोदी ने अब सुधाराः शिवराज सिंह चौहान

  • by Yogesh
  • August 20, 2019

मध्य प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने हाल ही में अनुच्छेद 370 के मुद्दे पर कांग्रेस पर जमकर हमला किया है, जयपुर में शिवराज सिंह चौहान कांग्रेस पर निशाना साधते हुए कहा कि, “कश्मीर को विशेष राज्य का दर्जा देने के लिए अनुच्छेद 370 को जोड़कर पंडित जवाहरलाल नेहरू ने एक तरह से देश के प्रति अपराध किया था।,”

शिवराज सिंह चौहान ने कांग्रेस पर हमला करते हुए कहा कि,

“जनसंघ की स्थापना के समय से ही हम सब का सपना था कि कश्मीर से अनुच्छेद 370 समाप्त हो, जनसंघ के स्थापना के समय से ही हमारे संस्थापक अध्यक्ष डॉ. श्यामा प्रसाद मुखर्जी ‘एक देश में दो निशान, दो विधान, दो प्रधान नहीं चलेंगे’ के मंत्र का उद्घोष करते हुए बिना परमिट के कश्मीर में प्रवेश किया था, इसके बाद उनका कश्मीर में बलिदान हो गया था।,”

वहीं शिवराज सिंह ने आगे कहा कि,

“कई बार लोगों को लगता था कि अनुच्छेद 370 ऐसा विषय है, जो सिर्फ लिखने के लिए होता है, यह हटेगी थोड़े ही, हालांकि मैं प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह को हृदय से धन्यवाद देता हूं, अनुच्छेद 370 जोड़कर पंडित जवाहरलाल नेहरू ने जो ऐतिहासिक भूल की थी, वो एक तरह से देश के प्रति अपराध था, हम सब जानते हैं कि भारत में विलय के समय महाराजा हरि सिंह ने अनुच्छेद 370 की कोई शर्त नहीं रखी थी।,”

चौहान ने कांग्रेस  पर तंज कसते हुए कहा कि,

“अब पता नहीं पंडित जवाहरलाल नेहरू को शेख अब्दुल्ला से इतना प्रेम क्यों था? नेहरू की रुचि लेने के कारण आयंगर ने यह मसौदा तैयार किया था और यह कैसी धारा थी, जिसने कश्मीर में आतंकवाद को पनपाया, कई वर्षों तक खून की होली खेली जाती रही।,”

वहीं शिवराज सिंह चौहान ने कहा कि,

“नेहरू की ऐतिहासिक भूल को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने सुधारा है, जब पाकिस्तान ने हमला किया था, तब भारत की फौज बहादुरी के साथ लड़ी थी. अगर उस समय थोड़ा समय मिल जाता, तो पाकिस्तान अधिकृत कश्मीर या गुलाम कश्मीर नाम की कोई चीज नहीं होती, कश्मीर का एक-एक इंच भारत का होता, तब पंडित नेहरू ने एकतरफा युद्ध विराम कर दिया था, साथ ही इस मामले को संयुक्त राष्ट्र संघ लेकर पहुंच गए थे।,”

शिवराज सिंह चौहान ने सवाल उठाया कि,

“आखिर हमारे देश के आंतरिक मामले को संयुक्त राष्ट्र संघ में ले जाने की जरूरत क्या थी? यह नेहरू की बड़ी गलती थी, जो ऐतिहासिक भूल पंडित नेहरू ने की थी, उस भूल को 70 साल के संघर्ष के बाद पीएम मोदी ने महज 48 घंटे में सुधार दिया।,”

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *