नरेंद्र मोदी को चुनाव आयोग से तीसरी बार मिली आचार संहिता उल्लंघन मामले में क्लीनचिट

  • by Yogesh
  • May 3, 2019

चुनाव आयोग ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को आचार संहिता उल्लंघन के तीसरे मामले में भी क्लीनचिट दे दी है। बता दें कि नरेंद्र मोदी के खिलाफ आरोप था कि उन्होंने राजस्थान के बाड़मेर में एक चुनावी जनसभा के दौरान आचार संहिता का उल्लंघन किया था।

वहीं अब इस मामले में मोदी को क्लीनचिट देने पर चुनाव आयोग का कहना है कि मोदी ने राजस्थान के बाड़मेर में चुनावी जनसभा के दौरान आदर्श आचार संहिता का उल्लंघन नहीं था। वहीं अब चुनाव आयोग ने मोदी को चुनाव से संबंधित भाषणों के सिलसिले में तीसरी क्लीनचिट दी है।

गौरतलब है कि राजस्थान के बाड़मेर में चुनावी जनसभा के दौरान नरेंद्र मोदी ने अपने भाषण में सशस्त्र बलों का आह्वान करते हुए कहा था कि भारत के परमाणु हथियार दिवाली में इस्तेमाल करने के लिए नहीं रखे हैं।

वहीं मोदी को क्लीनचिट देते हुए चुनाव आयोग के एक अधिकारियों ने जानकारी देते हुए बताया कि “आयोग ने विस्तार से इस मामले की जांच की है, और यह माना गया कि इस मामले में मौजूदा प्रावधानों का कोई उल्लंघन नहीं हुआ है।

बता दें कि  कांग्रेस ने चुनाव आयोग का रुख करते हुए आरोप लगाया था कि प्रधानमंत्री ने अपने भाषणों में सशस्त्र बलों का बार-बार आह्वान करके आदर्श आचार संहिता का उल्लंघन किया है। तथा कांग्रेस पार्टी ने चुनाव आयोग से मोदी पर कुछ समय के लिए चुनावी प्रचार करने पर प्रतिबंध लगाने की मांग की थी।

कांग्रेस ने चुनाव आयोग में शिकायत की थी कि मोदी ने 21 अप्रैल को बाड़मेर में एक चुनावी जनसभा के दौरान कहा था कि “भारत पाकिस्तान की परमाणु धमकियों से अधिक भयभीत नहीं है, उन्होंने कहा था  ‘भारत ने पाकिस्तान की धमकियों से डरना बंद कर दिया है,  मैंने सही किया है,  नहीं?  हर दूसरे दिन वे कहते थे कि ‘हमारे पास परमाणु हथियार है’…. फिर हमारे पास क्या है? क्या हमने इन्हें  दिवाली के लिए रखा है?’

गौरतलब है कि इससे पहले चुनाव आयोग ने मोदी को वर्धा और महाराष्ट्र के लातूर में दिए बयान पर भी क्लीन चिट दी थी। इस दौरान चुनाव आयोग ने कहा था कि मोदी द्वारा पहली बार वोट देने जा रहे मतदाताओं से अपना वोट बालाकोट हवाई हमले के नायकों और पुलवामा हमले में शहीद हुए जवानों को समर्पित करने का दिया गया बयान आचार संहिता का उल्लंघन नहीं है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *