#चुनाव2019: उम्मीदवारों को ‘टीवी चैनलों’ पर विज्ञापन देकर बताना होगा अपना आपराधिक रिकॉर्ड

  • by Ashutosh Kumar Singh
  • March 11, 2019

चुनाव आयोग ने भारत में इस साल होने जा रहे लोकसभा चुनावों में पारदर्शिता बरतने हेतु कई कदम उठाएं हैं। और इतना ही नहीं कुछ नियम ऐसे भी बनाये गये हैं, जिनका अगर सही ढंग से पालन किया गया तो हो सकता है देश को सर्वाधिक रूप से साफ़ छवि के नेता मिल सकें।  

दरअसल चुनाव आयोग ने अक्टूबर 2018 में बनाये गये एक  नियम को इन चुनावों में लागू करने का फ़ैसला किया है। इन नियमों के तहत लोकसभा चुनाव में उम्मीदवारों को अपने आपराधिक रिकॉर्ड को कम से कम तीन बार अख़बार तथा टीवी पर विज्ञापन के जरिये प्रसारित करना अनिवार्य होगा

दरसल राजनैतिक दलों पर भी यह नियम लागू होते हैंचुनाव आयोग के निर्देशों के अनुसार,

“राजनीतिक दलों को भी अपने उम्मीदवारों के आपराधिक रिकॉर्ड का विज्ञापन समाचार पत्रों और लोकप्रिय आखबारों में देना होगा। इन विज्ञापनों में यह भी बताना होगा कि कितने मामलों में आरोप सिद्ध हुए हैं और कितने मामले लंबित हैं

इसके साथ ही जिन उम्मीदवारों का आपराधिक रिकॉर्ड नहीं है, उन्हें इस बात को भी प्रमाणित करवाते हुए इसको विज्ञापित करना होगा

इस बीच हम आपको बता दें कि इस नियम का पालन करने न करने पर दलों पर मान्यता ख़त्म करने या निलंबित करने जैसे कड़े कदम उठाए जा सकतें हैं। 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *